• MIS
  •  

    लैंडलेस फार्मिंग तथा किचेन गार्डेन योजना

    अनु0 जाति के लिये विशेष केंद्रीय सहायता योजना के तहत उपलब्ध राशि से वित्तीय वर्ष 2011-12 से अनु0 जाति के लिये लैंडलेस प्रार्मिंग तथा किचेन गार्डेन का शुरुआत किया गया है,  जिसका मुख्य उद्देश्य दैनिक सब्जी की आवश्यकताओं की पूर्ति के साथ-साथ बाजार में बेचने योग्य सब्जियों का उत्पादन करना है।
    इस योजना के अंतर्गत वैसे परिवारों का चयन किया जाता है, जिनके पास खेती योग्य जमीन उपलब्ध नहीं है या बहुत ही कम है। इस योजना के अंतर्गत वैसे सब्जियों का उत्पादन किया जाता है, जो पारम्परिक सब्जियों के रूप में प्रयोग की जाती है साथ-ही-साथ वैसी सब्जियों का भी उत्पादन होता है, जो आधुनिक एवं फायदे वाली है, जैसे - ब्रोंकली, लैट्यूष, मशरूम, बेबीकॉर्न, स्वीट कॉर्न इत्यादि। आर्गेनिक खेती को बढ़ावा दिया जाता है एवं घर के आस-पास भूमि पर ही अधिक उत्पाद करवाया जाता है। इस योजना के अंतर्गत 3 गैर सरकारी संस्थाओं का चयन किया गया है। इन संस्थाओं के माध्यम से 10 जिलों के 20 प्रखंड में कार्य किये जा रहे हैं।